The Chairman cum Managing Director of Hindustan Salts limited S.P. Bansal called on Chief Minister Jai Ram Thakur at Mandi today and urged for providing surplus land on lease for further processing and increasing the production of Rock Salt...
हिमाचल में एचआईवी व एड्स की जागरूकता लाने के लिए 22 जनवरी, 2018 को शिमला में हाफ-मैराथन आयोजित की जाएगी। ये दौड़ एड्स कंट्रोल सोसाइटी, शिमला, द्वारा आयोजित की जा रही है, और ये रिज मैदान से सुबह 11 बजे,...
तुर्की में, हाल में हुए, अल्पाइन स्कीइंग प्रतियोगिता में हिमाचल की बेटी आँचल ठाकुर ने कांस्य पदक हासिल किया। परन्तु कितनों को मालूम है कि निर्णायक प्रतियोगिता से दो रात पहले आँचल के हाथ मे चोट लग गई थी। चोटिल...
In order to promote local produce, Himachal Pradesh will strongly advocate duty on importing of apples, Horticulture Minister, Mahinder Singh Thakur, who also holds the IPH portfolio, said today. Thakur said that Himachal apples were one of the best in...
हिमालय की छाँव में रहने वाले पहाड़ी लोग किस प्रकार की चुनौतियों का सामना करते हैं, इस पर पालमपुर में एक कार्यशाला आयोजित की जा रही है। 7 फरवरी से 14 फरवरी तक चलने वाली ‘पहाड़ और हम: रीथिंकिंग डेवलपमेंट...
छोटे से गाँव की रहने वाली किसी महिला की तस्वीर अगर सोशल मीडिया पर वायरल हो जाए तो कैसा महसूस होता है? ऐसा ही कुछ मंडी जिला के सपनोट गाँव की रहने वाली गीता वर्मा ने महसूस किया, जब गत...
हर पहलू में आगे रहने वाला राज्य एक आंकड़े में पिछड़ा हुआ प्रतीत होता है। राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण - 4 (2015-16) के अनुसार, हिमाचल प्रदेश में केवल 41.1% बच्चों को जन्म के एक घंटे के भीतर स्तनपान कराया...
शिमला की 23-वर्षीय शिवांगिनी सिंह को क्लाइमेटफ़ोर्स:अंटार्कटिका 2018 एक्सपेडिशन के लिए चुना गया है। इस 13-दिवसीय अभियान का आयोजन धरती की दोनों धुरियों पे जाने वाले प्रथम व्यक्ति -- रॉबर्ट स्वान, कैलिफ़ोर्निया (अमरीका) स्थित ‘क्लाइमेटफ़ोर्स’ तथा न्यू यॉर्क (अमरीका) स्थित...
कुल्लू जिला के बंजार सब-डिवीज़न में एसडीएम के पद पर कार्यरत आईएएस अधिकारी अपूर्व देवगन ने क्षेत्र के युवाओं के लिए पुस्तकालय खोल कर यहाँ के लोगों का मन मोह लिया है। इस पुस्तकालय के संचालन व इसके नवीनीकरण,...
जहाँ पर क्षेत्रीय सिनेमा जैसे तेलुगु, तमिल, मलयालम, बंगाली और पंजाबी भाषा की फिल्मों ने देश-विदेश मे अपनी एक अलग पहचान बनाई है, वहीं पर हिमाचल के वासी पहाड़ी भाषा में फिल्में देखने को तरसते हैं। कितने ही लोग जानते...