चम्बा फर्स्ट: ज़िला एकता रख मनाए एक दिवस, चम्बयाल कर रहे हैं माँग

चम्बा के नाम पर एक दिन निर्धारित होने से जन भावना ज़िले के विकास के लिए जागृत होगी

0

क दिवस ऐसा हो, जिस दिन सभी चम्बयाल एक मंच पर आ कर अपने पहचान को उत्सव के रूप में मनाएं। चम्बा रीडिसकवर्ड मंच (चंबा जनमत निर्माण) ने सभी चंबा के निवासियों से याचना की है कि वे अपने गौरवशाली इतिहास को न भूलते हुए अपनी सांस्कृतिक व भौगोलिक पहचान के लिए एक दिवस निर्धारित करें। मंच ने सरकार से भी गुहार लगाई है कि वह किसी एक दिन को चम्बा दिवस के रूप में मनाएँ।

मंच साझा करने वाले कुलभूषण अभिमन्यु ने तर्क देते हुए कहा, “जिस तरह से ज़िले के अलग-अलग एरिया के मेले त्यौहार पर उस एरिया में छुट्टी निर्धारित की जाती है, ठीक उसी तरह से चम्बा के नाम पर भी एक दिन निर्धारित करना चाहिए। क्योंकि, जिले में क्षेत्र विशेष के नाम पर मनाये जाने वाले मेले और त्यौहार पर क्षेत्र विशेष में ही छुट्टी मनती है। इसलिए चंबा जनपद का स्थापना दिवस हर सूरत में मनाया जाना चाहिए।”

चर्चा को आगे बढ़ाते हुए सेवा हिमालय के संयोजक मनुज शर्मा ने भी चंबा के नाम पर एक दिन मनाए जाने की मांग की। वहीं, चर्चा का हिस्सा बने संजय शर्मा, अशोक कुमार, रमेश कुमार, पवन कुमार, भानु, महिंद्र ने भी मनुज शर्मा के इस सुझाव को समर्थन दिया।

भरमौर के अनिल, पवन और रतन ने भी चम्बा के नाम पर एक दिन मनाने की परंपरा की शुरुआत करने की वकालत की है। उन्होंने कहा कि इस तरह का दिन मनाए जाने से चम्बा जनपद के प्रति लोगों में जन भावना को जागृत किया जा सकता है। अन्यथा अब तक तो लोगों के ज़हन, क्षेत्र विशेष की भावना से ओतप्रोत दिखते रहे हैं। चम्बा के नाम पर एक दिन निर्धारित होने से जन भावना ज़िले के विकास के लिए जागृत होगी, जो चम्बा के इतिहास में मील का पत्थर साबित होगी।

चम्बा फर्स्ट अभियान से जुड़ें

भारत सरकार द्वारा चंबा को पिछड़े जिलों की सूची में शामिल किये के जाने के बाद, से चम्बयालों द्वारा चम्बा रीडिस्कवर जैसे अभियान यहाँ की सिविल सोसाइटी द्वारा चलाये जा रहे हैं। उनके इस अभियान में हिमवाणी भी चम्बा फर्स्ट (#ChambaFirst) नामक अभियान चलाकर कन्धे से कन्धा मिलाकर चल रहा है।

यह लेख #ChambaFirst (चम्बा फर्स्ट) अभियान के तहत लिखा गया है। इस अभियान के तहत हम आप तक चम्बा के अलग अलग पहुलओं को लाते रहेंगे। हमारा प्रयास रहेगा की हम जनता के विचार एकत्रित कर, चम्बा को पिछड़ेपन के खिताब से मुक्त कराने हेतु, चम्बा रीडिसकवर के साथ मिल कर एक श्वेत पत्र लाएं जिसमें चम्बा के विकास के लिए विचार प्रस्तुत होंगे।

आप अपने विचार, लेख, हिमवाणी को editor[at]himvani[dot]com पे भेज सकते हैं। इसके इलावा Facebook और Twitter द्वारा भी अपने विचार रख सकते हैं। जब भी आप अपने विचार प्रकट करें, #ChambaFirst टैग का अवश्य इस्तेमाल करें, जिससे सारी कड़ियाँ जुड़ सकें।

चम्बा फर्स्ट से जुड़े सभी लेख यहाँ पढ़ें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here